रहने दो…!!!

रहने दो

सारे वादे भूला सकता हूँ; लेकिन रहने दो,
मैं तुम्हे छोड़ के जा सकता हूँ; लेकिन रहने दो.

तुमने जो बात की दिल दुःखानेवाली,
मैं उस पर मुस्कुरा भी सकता हूँ; लेकिन रहने दो.

तुम जो हर मोड़ पर कह देती हो; ‘ख़ुदा हाफ़िज़’,
फैसला मैं भी सुना सकता हूँ; लेकिन रहने दो.

शर्म आएगी तुम्हे अपने आप पर वरना,
तुम्हारे वादे तुम्हे याद दिला सकता हूँ; लेकिन रहने दो.

– क्रिष्ना

Advertisements