कुछ तो है – तू बदल गया है.

.

.

कुछ तो है – तू बदल गया है.
वो तेरी आँखों के ख्वाब सारे,
वो बातें सारी, हिसाब सारे,
सवाल सारे, जवाब सारे,
वो खुशियाँ सारी, अज़ाब सारे,
नशा था जो वो उतर गया है.
कुछ तो है – तू बदल गया है.
जो तेरे मिलने की आरज़ू थी,
जो तुझको पाने की जुस्तजू थी,
हुई जो चाहत अभी शुरू थी,
जो तेरी आँखों में रोशनी थी,
जो तेरी बातों की रंगीनी थी,
जो तेरी साँसों की ताज़गी थी,
जो तेरे लहजे मैं चाशनी थी –
वो सारा मीठा पिघल गया है.
कुछ तो है – तू बदल गया है.
.
.
– क्रिश्ना

Advertisements